Kendriya Vidyalaya Sangathan (KVS) Kya Hai? जानकारी हिंदी में!

By | July 12, 2020

Kendriya Vidyalaya Sangathan – केंद्रीय विद्यालय भारत सरकार का सबसे बड़ा स्कूली संगठन है, इसके अंतर्गत देश में हजारों की संख्या में सेंट्रल स्कूल है जो पूरे में सरकार द्वारा चलाया जाता है इसका संचालन केन्द्र की सरकार करती है। यह स्कूल Ministry of Human Resource Development (MHRD) के अंतर्गत आता है। वर्ष 2020के मुताबिक देश में इस समय 1183+ Central School (KVS) है, जिसमे 3 विदेशों में भी है।

Kendriya Vidyalaya Sangathan – KVS Kya Hai?

केंद्रीय विद्यालय संगठन की शुरुआत वर्ष 1962 में हुई थी, उस समय इसको सेंट्रल स्कूल के नाम से जाना जाता था , बाद में इस स्कूल का नाम बदल कर Kendriya Vidaylaya Sangathan रख दिया। उन दिनों अच्छे प्राइवेट स्कूल नहीं हुआ करते थे जिसकी वजह से इसको बहुत अच्छा स्कूल माना जाता था इसमें जल्दी एडमिशन नहीं मिलता था। मगर समय के साथ साथ अच्छे प्राइवेट स्कूल के आने के बाद अब इसमें वो बात नहीं रही है अब ज्यादातर लोग अपने बच्चों को अच्छे प्राइवेट स्कूल में पढ़ाना चाहते है। यह स्कूल सीबीएसई बोर्ड के अंतर्गत आता है।

केंद्रीय विद्यालय संगठन, Central Govt का Schooling System है , जिसके जरिये देश भर के केंद्रीय विद्यालय संचालित होते है। इसके कर्मचारी और सभी स्टाफ सेंट्रल गवर्नमेंट के कर्मचारी होते है, इसमें अच्छा वेतन भी मिलता है, इसको दुनिया का सबसे बड़ा स्कूलिंग संगठन भी कहा जाता है, आज इस स्कूल के देश में हजारों ब्रांचेज है जिसका संचालन केंद्र सरकार करती है। इस स्कूल में Defence Services Personnel के ज्यादा बच्चे पढ़ते है सिविलियन के बच्चे भी इसमें पढ़ते है मगर उनकी संख्या ज्यादा नहीं होती है ज्यादातर फौजी लोग ही अपने बच्चों को इसमें पढ़ाते है।

आजकल स्कूली शिक्षा इतनी महँगी हो गयी है की हर आदमी सोचता है की उसके बच्चे का एडमिशन किसी तरह से Kendriya Vidaylaya Sangathan (KVS) or Central School में हो जाता तो अच्छा रहता बच्चा एक बार एडमिशन लेने के बाद 12th tak आराम से एक ही स्कूल में पढ़ता और बार बार किसी दूसरे स्कूल में एडमिशन न कराना पड़ता, इसीलिए जब Kendriya Vidaylaya Sangathan ka Admission form आता है तो बहुत भारी संख्या में लोग आवेदन करतें है, जिसमे बहुत सारे लोगों का एडमिशन नहीं हो पता, इसमें admission के लिए इतना मारा मारी है की हम खुद ही अपने बच्चे पिछले 3 साल से नहीं करा पा रहे है। हर साल फॉर्म भारतें है लिस्ट में नाम ही नहीं आता है। स्कूली शिक्षा इतनी महँगी हो गयी है की लोग इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या नहीं करतें है यहाँ तक की कुछ लोग नेताओं से भी जुगाड़ लगाते हैं और एडमिशन करा लेते है।

Kendriya Vidyalaya Sangathan Facts

Kendriya Vidyalaya Sangathan

जैसा की आप जानतें है की केंद्रीय विद्यालय केन्द्र सरकार का होता है, जो Ministry of Human Resource Development (MHRD) के अंडर में काम करता है। इस समय (as on July 2020) देश में कुल 1183 केंद्रीय विद्यालय है, 3 School India से बाहर भी है।

केंद्रीय विद्यालय (सेन्ट्रल स्कूल) से जुडी रोचक जानकारी

1. Kendriya Vidyalaya 1963 me System me aaya Us Samay esko Central Schook ke naam se jana jata tha, aaj bhi bahut log esko Central School ke naam se hi jantain hai.

2. Kendriya Vidyalaya desh ka sabse bada School Chain hai jiski 1100 se jada branch hai jisme 3 school India se bahar hai

3. Sabhi KVS Ministry of HRD, GOI ke dwara sanchalit hotain hai, eski dekh rekh sab Central Govt karti hai

4. Sept 2014, UP top the list of the Highest Number of Enrolments in Kendriya Vidyalaya Sangathan among all States of India.

5. Delhi desh ka dusara sabse bada rajya hai jahan sabse jada KVS student padhatain hai phale number par UP hai. (1,01,564 Students)

6. अभी देश में कुल 1183 KVS School chal rahe hai, jisme lakhon ki sankya me rojgar ke awaser aate rahatain hai

7. Sabhi Kendriya Vidyalaya ko 25 Regions me divided kiya gaya hai, jiska head Deputy Commissioner hota hai.

8. Kendriya Vidyalaya Sangathan KVS ke 3 schook apne desh ke bahar hai jo es prarkar hai Kathmandu, Tehran and Moscow

9. Sanskrit Language es School me VI to VIII tak Compulsory Subject hoti hai jisko sabhi ko padhana hi padta hai.

10. Optional Language ke rup me Student German bhi le saktain hai yah kahin kahin hi hai sab jagah nahi

11. Kewal class IX se uper wale boys se hi tuition fees charged ki jaati hai

12. Kendriya Vidyalaya Sangathan employee ke bachon aur SC/ST students ki fees nahi lagati hai exempt hoti hai

13. 8 Schook have been accredited by the quality Council of India (QIC)

14. Abhi bhi India me aise 178 Dist aise hai jinme abhi tak ek bhi Kendriya Vidyalaya Sangathan KVS school nahi hai.

KVS School

15. Kendriya Vidyalaya Sangathan ka ek aur bhi udaisya hai ki eske jada se jada bache Indian Armed Forces me jayen

16. Yah Sangathan CBSE Board se Affiliated hai

17. Kendriya Vidyalaya Sangathan KVS student ko 4 Houses me divide kiya jata hai jo es prakar hai, Shivaji Raman, Ashoka & Tagore.

18. The Motto of Kendriya Vidyalaya Sangathan KVS ‘Jyanartha Pravesh, Sewavrtha Prasthan’ it means, enter for knowlege, leave of service

19. Yah school desh me lagbhag har jagah milta hai jisme log apne bachon ka admission lena aaj bhi pasand kartain hai magar admission jaldi nahi mil pata hai. sarkaar ko chahiye ki Kendriya Vidyalaya Sangathan ko aur jada se jada banayen.

20. यह औसतन भारत का सबसे अच्छा स्कूल माना जाता है।

केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) का हेडक्वार्टर दिल्ली में है, इसमें कई तरह के पद होते है, जिन पदों पर लोग काम करते है जैसे Ministry, Chairman, Deputy Chairman, Commissioner, Additional Commissioners, Accompany Commissioner, Assistant Commissioner, Principal, Vice-Principle, Head Master/Mistress and Teacher’s होते है जो KVS इस संगठन को सुचारु रूप से चलाते है।

Related Searches

KVS Information in Hindi

KVS Kya hai

Kendriya Vidyalaya Sangathan

Kendriya Vidyalaya Sangathan ki jankari hindi me

Kendriya Vidyalaya Sangathan kya hai

Central School Information in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *